Posted on Leave a comment

Indian Polity Fundamental Rights :: Solved Questions | Frontier IAS Coaching

Indian Polity Fundamental Rights :: Solved Questions | Frontier IAS Coaching

Indian Polity Fundamental Rights :: Solved Questions | Frontier IAS Coaching

Indian Polity Fundamental Rights
Q1. Consider the following statements:/निम्नलिखित कथनों पर  विचार करें:

(1)Art. 28-30 deals with Cultural and Educational rights./सांस्कृतिक और शैक्षिक अधिकारों अनुच्छेद 28-30 से संबंधित है।

(2)Art. 29 grants ‘any section of citizens’ right to conserve their culture./अनुच्छेद 29  ‘किसी भी भाग के नागरिको ‘अपनी संस्कृति का संरक्षण करने का अधिकार देता  हैं

(3)The expression ‘any section of citizens’ in Art. 29 includes minority as well as majority community./अभिव्यक्ति  ‘नागरिकों का कोई भी हिस्सा’ अनुच्छेद 29 में अल्पसंख्यक और बहुसंख्यक समुदाय शामिल है

Which of the statement(s) given above is/are correct?/ऊपर दिए कथनों में से कौन सा सही है ?

(a)1 and 2/1 और  2

(b)2 and 3/2 और 3

(c)1 and 3/1 और  3

(d)1, 2 and 3/1, 2 और 3

[showhide type=”links1″ more_text=”Show Answer” less_text=”Hide Answer”]

Ans.b

Art. 29-30 deals with Cultural and Educational rights.

[/showhide]

Q2. Consider the following statements:/निम्नलिखित कथनों पर  विचार करें:

(1)Only the Supreme Court is empowered to issue writs in cases of violation of Fundamental rights./मौलिक अधिकारों के उल्लंघन के मामलों में केवल उच्चतम न्यायालय को राइट जारी करने का अधिकार है।

(2)Supreme Court can refuse a petition under Art. 32, if an alternate legal remedy is available./सुप्रीम कोर्ट अनुच्छेद 32 के तहत याचिका को अस्वीकार कर सकता है, यदि कोई वैकल्पिक कानूनी उपाय उपलब्ध हो ।

Which of the statement(s) given above is/are correct?/ऊपर दिए कथनों में से कौन सा सही है ?

(a)Only 1/केवल 1

(b)Only 2/केवल 2

(c)Both 1 and 2/1 और 2 दोनों

(d)None of these/इनमे से कोई नहीं

[showhide type=”links2″ more_text=”Show Answer” less_text=”Hide Answer”]

Ans.d

Both the Supreme Court and the High Court are empowered to issue writs for enforcement of other fundamental rights specified under Part III of the Constitution.

[/showhide]

Q3. Consider the following :/निम्नलिखित पर विचार करें:

(1)Art. 26-Freedom to manage religious affairs/अनुच्छेद 26- धार्मिक मामलों के प्रबंधन की स्वतंत्रता

(2)Art. 30-Protection of language, script and culture of minorities/अनुच्छेद 30- अल्पसंख्यकों की भाषा, लिपि और संस्कृति का संरक्षण

(3)Art. 21-Right to elementary education/अनुच्छेद  21 – प्राथमिक शिक्षा का अधिकार

(4)Art. 20- Protection in respect of conviction for offences/अनुच्छेद 20-अपराधों के लिए सजा के संबंध में संरक्षण

(5)Art. 18-Abolition of titles except military and academic/अनुच्छेद  18- सैन्य और शैक्षणिक को छोड़कर उपाधि का उन्मूलन

Which of the statement(s) given above is/are correctly matched?/ऊपर दिए कथनों में से कौन सा सही से मिलाया गया है?

(a)1, 3 and 5/1, 3 और 5

(b)1, 4 and 5/1, 4 और 5

(c)1, 2, 4 and 5/1, 2, 4 और 5

(d)1, 3, 4 and 5/1, 3, 4 और 5

[showhide type=”links3″ more_text=”Show Answer” less_text=”Hide Answer”]

Ans.b

Art. 26 deals with ‘Freedom to manage religious affairs’.

[/showhide]

Q4. Consider the following statements regarding writs issued by Supreme Court:/सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जारी किए गए रिटों के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

(1)Writs of ‘Mandamus’ and ‘Certiorari’ can be issued against state and individual both./राज्य और व्यक्तिगत दोनों के खिलाफ ‘परमादेश’ और ‘उत्प्रेषण-लेख’ के रिट जारी किए जा सकते हैं।

(2)Writ of ‘Mandamus’ can be issued only against judicial or quasi-judicial authorities./’परमादेश’ के रिट केवल न्यायिक या अर्ध-न्यायिक प्राधिकरणों के खिलाफ जारी किए जा सकते हैं।

(3)Writ of ‘Prohibition’ issued by a higher court to a court subordinate to it to prevent it from exceeding its jurisdiction./एक उच्च न्यायालय द्वारा जारी किए गए ‘निषेध’ के रिट को इसकी अधीनता वाले न्यायालय में इसे अपने अधिकार क्षेत्र से अधिक होने से रोकने के लिए है।

(4)Writ of ‘Certiorari’ is both preventive as well as curative in nature./ ‘उत्प्रेषण-लेख’ के रिट  प्रकृति में दोनों निरोधक और साथ ही रोगनिवारक हैं।

Which of the statement(s) given above is/are not untrue?/ऊपर दिए गए कथनों  में से कौन सा गलत नहीं है?

(a)1, 2 and 3/1, 2 और 3

(b)3 and 4/3 और 4

(c)2, 3 and 4/2, 3 और 4

(d)1, 2 and 4/1, 2 और 4

[showhide type=”links4″ more_text=”Show Answer” less_text=”Hide Answer”]

Ans.b

Writs of ‘Mandamus’ and ‘Certiorari’ can be issued only against the state and not an individual.

[/showhide]

Q5. Consider the following statements:/निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

(1)Fundamental rights are sacrosanct in nature./मौलिक अधिकार प्रकृति में पुण्यमय हैं

(2)The State should grant compensation when it acquires the property of minority educational institution./राज्य को अल्पसंख्यक शिक्षा संस्थान की संपत्ति का अधिग्रहण करने पर मुआवजा देना चाहिए।

(3)Fundamental rights enunciated under Art. 15, Art. 16, Art. 19 and Art. 30 are available to both citizens and foreigners./अनुच्छेद 15, अनुच्छेद 16, अनुच्छेद 19 और अनुच्छेद 30 के तहत तैयार किए गए मौलिक अधिकार नागरिक और विदेशियों दोनों के लिए उपलब्ध हैं

(4)Art. 31C cannot be subjected to judicial review./अनुच्छेद 31C को न्यायिक समीक्षा के अधीन नहीं किया जा सकता है

Which of the statement(s) given above is/are false?/उपरोक्त कथनों में से कौन सा गलत है?

(a)1, 3 and 4/ 1, 3 और 4

(b)1, 2 and 4/1, 2 और 4

(c)1, 2 and 3/1, 2 और 3

(d)2, 3 and 4/2, 3 और 4

[showhide type=”links5″ more_text=”Show Answer” less_text=”Hide Answer”]

Ans.a

Fundamental rights are not sacrosanct in nature. It means that they can be abolished by the Parliament and they are not permanent.

[/showhide]

 

 

 

Join Frontier IAS Online Coaching Center to prepare for UPSC/HCS/RAS Civil Service comfortably at your home at your own pace/time.

HCS(Prelims+Mains+Interview)   HCS Prelims(Paper 1+Paper 2)

IAS+HCS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    

  RAS+IAS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    RAS(Prelims+Mains+Interview)     RAS Prelims     UPSC IAS Prelims      UPSC  IAS (Prelims+Mains+Interview)

Click Here to subscribe Our YouTube Channel