Posted on Leave a comment

Geographical Landscape- Haryana Gk Notes in English/Hindi || Geography

Geographical Landscape- Haryana Gk Notes in English/Hindi || Geography

Geographical Landscape- Haryana Gk Notes in English/Hindi || Geography

Geographical Landscape

  • Haryana is a North-Western state of India. It is located between 27°39 to 30°55 north latitude and 74.28 ° to 77°36 east longitude.
  • Haryana is sprawled over an area of 44212 sq km and ranked 21st in terms of area in the country(while, 18th in term of population).

भौगोलिक लैंडस्केप

  • हरियाणा भारत का उत्तर-पश्चिमी राज्य है। यह 27°39 से 30°55 उत्तर अक्षांश और 74.28 ° से 77°36 पूर्व रेखांश के बीच स्थित है।
  • हरियाणा 44212 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है और क्षेत्र की द्रिष्टि से देश में 21 वें स्थान पर है( जनसंख्या की द्रिष्टि से देश में 18 वें स्थान पर) ।

Hisar Division :

  • Districts : Hisar, Fatehabad, Sirsa, Jind.
  • Sub-Divisions : Sirsa, Mandi Dabwali, Ellenabad, Kalanwali, Jind, Safeedo, Narvana, Julana, Uchana, Hisar, Hansi, Barwala, Narnaund, Fatehabad, Tohana, Ratiya.
  • Tehsils : Hisar, Mandi Adampur, Hansi, Narnaund, Barwala, Bass,  Fatehabad, Tohana, Ratiya, Sirsa, Mandi Dabwali, Ellenabad, Nathusari Chopta, Kalanwali, JInd, Safidon, Uchana, Narwana, Julana, Alewa.

हिसार डिवीजन :

  • जिले : हिसार, फतेहाबाद, सिरसा, जींद।
  • उप-डिवीजन : सिरसा, मंडी डबवाली, ऐलनाबाद , कलांवली, जींद, सफीदो, नरवाना, जुलाना, उचाना, हिसार, हांसी, बरवाला, नारनौंद, फतेहाबाद, टोहाना, रतिया।
  • तहसील : हिसार, मंडी आदमपुर, हांसी, नारनौंद, बरवाला, बास, फतेहाबाद, टोहाना, रतिया, सिरसा, मंडी डबवाली, ऐलनाबाद, नाथूसरी चौपटा, कलांवली, जींद, सफीदो, उचाना, नरवाना, जुलाना, अलेवा

Geographical division

1. Yamuna Ghaggar Plain (Altitude 220-280m)

It is the largest part of the state and made up of alluvium deposits in the watershed basin of the rivers Ghaggar and Yamuna and their tributaries. Trees like Jamun, Neem, Mango, Banyan, Peepal and Sheesham are found here. Here is more heat in summer and more cold in winter.

2. Shiwalik Hills

The average height of the hills ranges between 900m to 2300m. It mainly lies in North-Eastern part of haryana(in the Districts of Ambala, Panchkula and Yamuna Nagar). The highest point of the region is Karoh Peak (1499 m).

भौगोलिक विभाजन

1. यमुना घागर मैदान – (ऊंचाई 220-280 मीटर)

यह राज्य का सबसे बड़ा हिस्सा है। यह घघगर और यमुना और उनकी सहायक नदियों द्वारा घाटी में लाये गए जलोढ़ से बना है। गर्मियों में यहां अधिक गर्मी और सर्दी में अधिक ठण्ड पड़ती है। जामुन, नीम, आम, बरगद, पीपल और शीशम जैसे पेड़ यहां पाए जाते हैं।

2. शिवालिक की पहाड़ियां

इन पहाड़ियों की औसत ऊंचाई 900 मीटर से 2300 मीटर के बीच है। यह मुख्य रूप से हरियाणा के उत्तर-पूर्वी हिस्से (अंबाला, पंचकुला और यमुना नगर के जिलों में) में स्थित है। इस क्षेत्र का उच्चतम बिंदु करोह चोटी (1499 मीटर) है।

 

For More Articles You Can Visit On Below Links :

Join Frontier IAS Online Coaching Center to prepare for UPSC/HCS/RAS Civil Service comfortably at your home at your own pace/time.

HCS(Prelims+Mains+Interview)   HCS Prelims(Paper 1+Paper 2)

IAS+HCS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    

  RAS+IAS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    RAS(Prelims+Mains+Interview)     RAS Prelims     UPSC IAS Prelims      UPSC  IAS (Prelims+Mains+Interview)

Click Here to subscribe Our YouTube Channel

Posted on Leave a comment

History of Haryana- Mahatma Gandhi in Haryana || Study Material

History of Haryana- Mahatma Gandhi in Haryana || Study Material

History of Haryana- Mahatma Gandhi in Haryana || Study Material

Haryana State and Gandhi Ji

Mahatma Gandhi in Haryana

  • The purpose of Mahatma Gandhi’s visit to Haryana is mainly related to two subjects.
  • The first non-cooperation movement and the establishment of order by restoring communal riots spread after the partition of India.  Haryana.
  • Gandhiji from Africa on January 9, 1915 Came to India Gandhiji called for nationwide strike against the Rowlatt Act on March 30, 1919. Later, he changed this date to April 6. In Haryana.  In most places, there was a strike on both the days.

हरियाणा में महात्मा गाँधी

  • महात्मा गाँधी की हरियाणा यात्रा का उद्देश्य मुख्य रूप से दो विषयों से सम्बंधित था |
  • पहला असहयोग आंदोलन और दूसरा भारत के विभाजन के बाद हुए सांप्रदायिक दंगों को रोककर क़ानून व्यवस्था की स्थापना करना|
  • गाँधी जी 9 जनवरी 1915 को अफ्रीका से भारत वापस आये | 30 मार्च 1919 को गाँधी जी ने रौलेट एक्ट के विरुद्ध देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया | बाद में उन्होंने इस तारीख को बदलकर 6 अप्रैल कर दी | अधिकाँश स्थानों पर, ये दोनों दिन हड़ताल हुए |

Gandhiji’s arrest

  • On the invitation of Swami Shraddhanand and other leaders, Gandhiji went on tour from Bombay on April 6, 1919 to Delhi and Punjab (Haryana).
  • The government was nervous about the news of their arrival and Gandhiji was called to Palwal, When the train stopped there, stopped them from going ahead and arrested on April 8, 1919, it was Gandhi’s first arrest in India.

गाँधी जी की गिरफ़्तारी

  • स्वामी श्रद्धानंद और अन्य नेताओं के आमंत्रण पर, गाँधीजी 6 अप्रैल 1919 को बॉम्बे से दिल्ली और पंजाब की यात्रा पर गए |
  • सरकार उनके आने की खबर से बेचैन थी तथा गाँधी जी को पलवल बुलाया गया, जब ट्रेन वहाँ रुकी, तो उन्हें आगे जाने से रोक दिया गया और 8 अप्रैल 1919 को गिरफ्तार कर लिया | यह गाँधी जी की भारत में पहली गिरफ़्तारी थी |  

Gandhiji in Panipat

  • In Panipat , There were majority of Muslims , though majority of Muslims had gone to Pakistan. Patriot Maulana Laucala said, ‘I will die only in my own nation.’ They took Gandhiji on 9th December, 1947 in Panipat.
  • Gandhiji appealed to keep peace with Muslims and also taught Punjab’s Chief Minister Dr. Gopichand Bhargava that ‘Be a good leader, be a good administrator.’

पानीपत में गाँधी जी

  • पानीपत में मुसलमान बहुसंख्यक थे, यद्यपि अधिकाँश मुस्लिम पाकिस्तान जा चुके थे | देशभक्त मौलाना लुकाला ने कहा था  “मैं केवल अपने राष्ट्र में मरूँगा| ” वे गाँधी जी को 9 दिसम्बर 1947 को पानीपत लेकर आयें |
  • गाँधी जी ने मुस्लिमों से शांति बनाए रखने की अपील की तथा साथ ही पंजाब के मुख्यमंत्री डॉ. गोपीचंद भार्गव को भी यह शिक्षा दी कि ‘एक अच्छे नेता बनो, एक अच्छे प्रशासक बनो |’

For More Articles You Can Visit On Below Links :

Join Frontier IAS Online Coaching Center to prepare for UPSC/HCS/RAS Civil Service comfortably at your home at your own pace/time.

HCS(Prelims+Mains+Interview)   HCS Prelims(Paper 1+Paper 2)

IAS+HCS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    

  RAS+IAS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    RAS(Prelims+Mains+Interview)     RAS Prelims     UPSC IAS Prelims      UPSC  IAS (Prelims+Mains+Interview)

Click Here to subscribe Our YouTube Channel

Posted on Leave a comment

HPSC Prelims 2015 : Join Correspondence Course

HPSC Prelims 2015

HPSC Prelims 2015 : Join Correspondence Course

HPSC Prelims 2015

HPSC Prelims 2015

HPSC (Haryana Public Service Commission) can issue notification for  HCS exam any time. Candidates are highly advised to be ready as there are only two months when notification is issued. In two months preparation will be extremely difficult. So wise decision is to Continue reading HPSC Prelims 2015 : Join Correspondence Course