Posted on Leave a comment

Haryana Budget Analysis 2018-19 || Best Study Material- Haryana Economy

Haryana Budget Analysis 2018-19 || Best Study Material- Haryana Economy

Haryana Budget Analysis 2018-19 || Best Study Material- Haryana Economy

Haryana Budget Analysis 2018-19

  • The Finance Minister of Haryana, Captain Abhimanyu, presented the Budget for financial year 2018-19 on March 9, 2018.

Budget Highlights  –

  • The Gross State Domestic Product of Haryana for 2018-19 (at current prices) is estimated to be Rs 6,87,572 crore. This is 13% higher than the revised estimates for 2017-18.  
  • Total expenditure for 2018-19 is estimated to be Rs 1,02,733 crore, a 9.7% increase over the revised estimates of 2017-18. In 2017-18, there was an increase of Rs 1,301 crore (1.4%) in the expenditure over the budget estimates.

हरियाणा बजट विश्लेषण 2018-19

  • हरियाणा के वित्त मंत्री, कप्तान अभिमन्यु ने 9 मार्च, 2018 को वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए बजट प्रस्तुत किया।

बजट के मुख्य बिंदु-

  • 2018-19 (मौजूदा कीमतों पर) के लिए हरियाणा का  राज्य सकल घरेलू उत्पाद 6,87,572 करोड़ रुपये होने का अनुमान है। यह 2017-18 के संशोधित अनुमानों की तुलना से 13% अधिक है।
  • 2018-19 के लिए कुल व्यय 1,02,733 करोड़ रुपये होने का अनुमान है, यह 2017-18 के संशोधित अनुमानों में 9.7% की वृद्धि है। 2017-18 में, व्यय में बजट के अनुमान से 1,301 करोड़ रुपये (1.4%) की वृद्धि हुई ।

Expenditure in 2018-19 –

  • Capital expenditure for 2018-19 is proposed to be Rs 17,546 crore, which is an increase of 14% over the revised estimates of 2017-18. This includes  expenditure which affects the assets and liabilities of the state, and leads to creation of assets (such as bridges and hospital), and repayment of loans, among others.
  • Revenue expenditure for 2018-19 is proposed to be Rs 85,187 crore, which is an increase of 9% over revised estimates of 2017-18. This expenditure includes payment of salaries, maintenance, etc.

2018-19 में व्यय –

  • 2018-19 के लिए पूंजीगत व्यय 17,546 करोड़ रुपये होने का प्रस्ताव है, जो 2017-18 के संशोधित अनुमानों पर 14% की वृद्धि है। यह व्यय राज्य की संपत्तियों और देनदारियों को प्रभावित करता है, और इसमें संपत्तियों के निर्माण (जैसे पुलों और अस्पताल), और ऋण के पुनर्भुगतान भी शामिल है।
  • 2018-19 के लिए राजस्व व्यय 85,187 करोड़ रुपये होने का प्रस्ताव है, इसमें 2017-18 के संशोधित अनुमानों में 9% की वृद्धि है। इस व्यय में वेतन, रखरखाव इत्यादि का भुगतान भी शामिल है।

Receipts in 2018-19

  • The total revenue receipts for 2018-19 are estimated to be Rs 76,933 crore, an increase of 9.8% over the revised estimates of 2017-18. Of this, Rs 60,434 crore will be raised by the state through its own resources (79% of the revenue receipts), and Rs 16,499 crore will be devolved by the centre in the form of grants and the state’s share in taxes (21% of the revenue receipts).

2018-19 में प्राप्तियां –

  • 2017-19 के लिए कुल राजस्व प्राप्तियां 2017-18 के संशोधित अनुमानों के मुकाबले 9 .8% की वृद्धि के साथ 76, 9 33 करोड़ रुपये होने का अनुमान है। इनमें से 60,434 करोड़ रुपये राज्य द्वारा अपने संसाधनों (राजस्व प्राप्तियों का 79%) के माध्यम से उठाए जाएंगे, और 16,49 9 करोड़ रुपये अनुदान के रूप में केंद्र द्वारा और करों में राज्य का हिस्सा (21% राजस्व प्राप्तियां) दिया जायेगा।

 

For More Articles You Can Visit On Below Links :

Join Frontier IAS Online Coaching Center to prepare for UPSC/HCS/RAS Civil Service comfortably at your home at your own pace/time.

HCS(Prelims+Mains+Interview)   HCS Prelims(Paper 1+Paper 2)

IAS+HCS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    

  RAS+IAS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    RAS(Prelims+Mains+Interview)     RAS Prelims     UPSC IAS Prelims      UPSC  IAS (Prelims+Mains+Interview)

Click Here to subscribe Our YouTube Channel

Posted on 1 Comment

Denue, Nirbhay, NREGA, Economy, civil servants 14th Oct The Hindu

Denue, Nirbhay, NREGA, Economy, civil servants 14th Oct The Hindu

Page 7

Adding up the nickels and dimes

A multi-sectoral approach to dengue control


Page 9

Nirbhay to be test fired on friday

Continue with NREGA, economists urge Modi

Page 11

Role of learning in the economy

Some reason, some controversial views on civil servants

Page 16

Most Continue reading Denue, Nirbhay, NREGA, Economy, civil servants 14th Oct The Hindu