Vedic Civilization- Ancient History | Haryana GK Study Notes

Vedic Civilization- Ancient History | Haryana GK Study Notes

Vedic Civilization- Ancient History | Haryana GK Study Notes

Vedic Civilization- Ancient History | Haryana GK Study Notes

Vedic Civilization- Ancient History | Haryana GK Study Notes

Vedic Civilisation (1500-1000 BC)

  • This is the earliest civilisation in Indian history, of which we have written records that we understand.
  • It is named after the Vedas, the early literature of the Hindu people, the Vedic civilisation flourished along the river Saraswati, in a region that now consists of the modern Indian states of Haryana and Punjab.
  • The use of Vedic Sanskrit continued upto the 6th century BC. Vedic is synonymous with Aryans and Hinduism, which is another name for religious and spiritual thought that has evolved from the Vedas.
  • When Aryans came to India, they first settled in Haryana. Scholars are still confused from where they had come.

वैदिक सभ्यता ( 1500-1000 ईसा पूर्व )

  • यह भारतीय इतिहास की सबसे आरंभिक सभ्यता है, जिसके लिखित अभिलेख हमारे पास हैं जिन्हें हम समझ सकते हैं |
  • इसका नाम वेदों के नाम पर रखा गया है, जो हिंदुओं का आरंभिक साहित्य है, वैदिक सभ्यता सरस्वती नदी के आसपास फली-फूली, यह वह क्षेत्र है जिसमें अब पंजाब एवं हरियाणा के आधुनिक भाग आते हैं |
  • वैदिक संस्कृत का प्रयोग छठी शताब्दी ईसा पूर्व तक जारी रहा | वैदिक आर्यों तथा हिन्दू धर्म का पर्याय है, जो वेदों से विकसित धार्मिक एवं आध्यात्मिक विचारों का एक अन्य नाम है |
  • आर्य कबीले जब भारत आये तो वे सबसे पहले हरियाणा में ही बसे। ये लोग कहां से आये इस विषय पर विद्वानों में मतभेद आज भी जारी है।

Historicity of the Mahabharata war  :

  • Mahabharata is an important text of the ancient Indian literature.
  • It is an epic. Scholars have differences regarding the incidents characterized in this epic that whether they are true or not. Means, Many scholars doubt the historicity of the Mahabharata War.
  • At the beginning of the epic Mahabharata, there is a poem titled “ Jai”, which was composed by Maharshi Vedvyas, who was contemporary of this war and had seen the war directly.
  • We find names of some kings related to Pre-Vedic literature. Such as Yayati, Nuhus, Puru, Bharat, Devashi, Shantanu, Dhritrashtra, Vichitravirya etc.

महाभारत युद्ध की ऐतिहासिकता :

  • महाभारत प्राचीन भारतीय साहित्य का एक महत्वपूर्ण ग्रंथ है।
  • यह एक महाकाव्य है। इस महाकाव्य में वर्णित घटनाओं के संबंध में विद्वानों में यह मतभेद है कि ये घटनाएं काल्पनिक है अथवा वास्तविक अर्थात बहुत से विद्वान महाभारत युद्ध की ऐतिहासिकता के बारे में संदेह करते हैं।
  • महाभारत महाकाव्य के प्रारंभ में ही एक ऐतिहासिक कविता है जिसका शीर्षक है ‘जय’ इसकी रचना महर्षि वेदव्यास ने की थी जो कि इस युद्ध के समकालीन था और उसने इस युद्ध को प्रत्यक्ष रूप से देखा था।
  • पूर्व वैदिक, साहित्य के कुछ राजाओं के नाम मिलते हैं जैसे, ययाति, नुहुस, पुरु, भरत देवाषि, शांतनु, धर्तराष्ट्र, विचित्रवीर्य आदि।

Other important facts of the Vedic Period :

  • The language of the Vedas is Sanskrit. So Brahmin texts have been prepared to read them.

Such as :

i) Rigveda ( knowledge of religion ) – Aitreya and  Kaustaki Brahmin texts.

ii) Yajurveda ( method of Yajna ) : Shatpath and Taittiriya Brahmin texts.

iii) Sama Veda (music ) : Panchvish Brahmin text.

iv) Atharva Veda ( Black magic ) – Gopath Brahmin text.

वेदिक काल के अन्य महत्वपूर्ण तथ्य

  • वेदों की भाषा कठिन संस्कृत हैं। इसीलिए उनको पढ़ने के लिए ब्राह्मण ग्रंथ बनाये गए है।

जैसे  :

i) ऋग्वेद (धर्म का ज्ञान) – ऐतरेय  व कौस्तकी ब्राह्मण ग्रंथ

ii) यजुर्वेद (यज्ञ की विधि) – शतपथ  व तैतरैय ब्राह्मण ग्रंथ

iii) सामवेद (संगीत) – पंचविष ब्राह्मण ग्रंथ

iv) अथर्ववेद (जादू टोना) गोपथ ब्राह्मण ग्रंथ

Join Frontier IAS Online Coaching Center to prepare for UPSC/HCS/RAS Civil Service comfortably at your home at your own pace/time.

HCS(Prelims+Mains+Interview)   HCS Prelims(Paper 1+Paper 2)

IAS+HCS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    

  RAS+IAS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    RAS(Prelims+Mains+Interview)     RAS Prelims     UPSC IAS Prelims      UPSC  IAS (Prelims+Mains+Interview)

Click Here to subscribe Our YouTube Channel

No Comments

Leave a Reply