UPSC IAS Prelims & Mains Exam 2018 – Geography Study Material

UPSC IAS Prelims & Mains Exam 2018 – Geography Study Material

UPSC IAS Prelims & Mains Exam 2018 – Geography Study Material

UPSC IAS Prelims & Mains Exam 2018 – Geography Study Material

UPSC IAS Prelims & Mains Exam 2018 – Geography Study Material

Physiographic Divisions of India Northern Plains-

Formation of Northern Plains-

  • The formation of Northern Plains is closely related to the formation of Himalayas.
  • The raising of Himalayas and subsequent formation of glaciers gave rise to many new rivers.
  • These rivers along with glacial erosion, supplied more alluvium which intensified the filling of the depression caused by collision of Indian Plate and Eurasian plate

  • With the accumulation of more and more sediments in the depression, the Tethys sea started receding.
  • Gradually, the depression was completely filled with alluvium, gravel, rock debris and the Tethys completely disappeared leaving behind a monotonous aggradational plain formed due to deposition.    
  • Since few million years, depositional work of three major river systems viz., the Indus, the Ganga and the Brahmaputra have become predominant.
  • Hence this arcuate (curved) plain is also known as Indo-Gangetic-Brahmaputra Plain.

   

Features of Indo-Gangetic-Brahmaputra plain-

  • Formed of alluvial soil
  • It spreads over an area of 7 lakh sq. km
  • 3,200 km from the mouth of the Indus to the mouth of the Ganga. Indian sector of the plain accounts for 2,400 km.
  • Agriculturally a very productive part of India.
  • Rivers coming from Northern Mountains are involved in deposition

  • Northern border: Shiwaliks
  • Southern border: wavy irregular line along the northern edge of the Peninsular India.
  • Western border: Sulaiman and Kirthar ranges.
  • Eastern border: Purvanchal hills.
  • The width of the plain varies from region to region.
  • West : widest where it stretches for about 500 km.
  • East : Its width decreases

उत्तरी मैदानों का निर्माण-

  • उत्तरी मैदानों की बनावट हिमालय की रचना  से अत्यधिक सम्बंधित है |
  • हिमालय की रचना और आगामी हिमनदों की उतपत्ति ने कई नयी नदियों को जन्म दिया |
  • इन नदियों ने हिमनदों के कटाव के साथ- साथ जलोढ़ मिट्टियों का संचय किया, जिसने इंडियन और यूरोपियन प्लेटों के टकराने के कारण हुए गढ़ों को भरना तेज किया |

  • अधिक से अधिक अवसादों का गढ़ों में संचय से टेथिस सागर की गहराई घटनी शुरू हुई |
  • धीरे-धीरे, गढ़ें मिटटी, कंकर, चट्टानों के मलवों से भर गया तथा निक्षेपण के कारण  मैदानों की सतहों में वृद्धि हुई और टेथिस पूरी तरह विलुप्त हो गया |
  • बहुत सालो से , तीन नदी तंत्रो ने सबसे ज्यादा निक्षेपण करने का काम किया है , जिसमे सिंधु, गंगा और ब्रह्मपुत्र सर्वाधिक महत्वपूर्ण  है |
  • इसलिए, इस धनुषाकार (वक्राकार)मैदान को भारत-गंगा-ब्रह्मपुत्र मैदान के नाम से भी जाना जाता है |

सिंधु -गंगा-ब्रह्मपुत्र मैदान की विशेषताएं-

  • इसका निर्माण जलोढ़ मृदा से हुआ है |
  • यह सात लाख वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है I
  • सिंधु के मुहाने से गंगा के मुहाने  तक 3,200 किमी फैला हुआ है इसमें 2,400 किमी तक का भारत का मैदानी क्षेत्र है |
  • कृषि की दृष्टि से भारत का अति महत्वपूर्ण क्षेत्र है
  • उत्तरी पर्वतों से आने वाली नदियाँ निक्षेपण का कार्य करती है |

  • उत्तरी सीमा: शिवालिक
  • दक्षिणी सीमा: प्रायद्वीपीय भारत के उत्तरी किनारे पर निर्मित अव्यवस्थित श्रेणी
  • पश्चिमी सीमा: सुलेमान और किर्थर पर्वतमाला
  • पूर्वी सीमा: पूर्वांचल पहाड़िया
  • मैदान की चौड़ाई क्षेत्रों के अनुसार अलग अलग होती है |
  • पश्चिम: सबसे अधिक चौड़ाई 500 किलोमीटर तक फैला हुआ है
  • पूर्व: इसकी चौड़ाई घट जाती है |

Divisions of Northern Plain-

Three main divisions

  1. Punjab plains
  2. Ganga plains
  3. Brahmputra plains

I. Punjab plains-

  • Punjab literally means “(The Land of) Five Waters” referring to the following rivers: the Jhelum, Chenab, Ravi, Sutlej, and Beas.
  • This plain is formed by five important rivers of Indus system.
  • This section of plains is dominated by ‘Doabs’
  • “Doab” is made of two words-’do’ meaning ‘two’ and ‘ab’ meaning   ‘water’
  • The depositional process by the rivers has united these doabs giving an homogenous appearance.

II. Ganga Plains-

  • Largest unit of the Great Plain of India.
  • Stretching from Delhi to Kolkata (about 3.75 lakh sq km).
  • Has been build by the alluvium deposition of Ganga and its tributaries originating in Himalayas.
  • The peninsular rivers such as Chambal, Betwa, Ken, Son, etc. joining the Ganga river system have also contributed to the formation of this plain.

III. Brahmaputra plains-

Also known as the Brahmaputra valley or Assam Valley or Assam Plain because most of the Brahmaputra valley is situated in Assam.

  • Western boundary = Indo-Bangladesh border as well as the boundary of the lower Ganga Plain.
  • Eastern boundary=Purvanchal hills.
  • Aggradational plain built up by the depositional work of the Brahmaputra and its tributaries.

उत्तरी मैदानों का विभाजन-

तीन मुख्य विभाजन

  1. पंजाब (पंच-नद) के मैदान
  2. गंगा मैदान
  3. ब्रह्मपुत्र मैदान

I. पंजाब के मैदान-

  • पंजाब का शाब्दिक अर्थ है “पांच नदियों की  भूमि” जिसमे निम्नलिखित नदियों शामिल है : झेलम, चिनाब ,रावि,सतलुज ,और व्यास |
  • यह मैदान सिंधु नदी तंत्र  की पांच महत्वपूर्ण नदियों द्वारा बना है |
  • मैदानों के इस खंड में ‘दोअब’ का प्रभुत्व है
  • “दोआब” दो शब्दों से बना है-
  •  दो जिसका अर्थ है ‘2’ और ‘आब’ का अर्थ है  ‘पानी’
  • नदियों द्वारा निक्षेपण की प्रक्रिया ने दोआब को एकरूप देकर संगठित किया है |

II. गंगा के मैदान-

  • भारत के वृहत मैदानों में से सबसे लम्बा मैदान |
  • दिल्ली से कोलकाता तक फैला हुआ है  (लगभग 3.75 लाख वर्ग कि.मी. )
  • गंगा और उसके सहायक नदियाँ जो कि हिमालय से निकलती है के जलोढ़ अवक्षेपण द्वारा निर्मित हुए है |
  • प्रायद्वीपीय नदियाँ जैसे की चंबल, बेतवा, केन, सोन  आदि ने इस मैदान के निर्माण में भी योगदान दिया है।

III. ब्रह्मपुत्र के मैदान-

  • इसे ब्रह्मपुत्र घाटी या असम घाटी या असम मैदान के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि ब्रह्मपुत्र घाटी का अधिकांश भाग असम में स्थित हैं।
  • पश्चिमी सीमा = भारत-बांग्लादेश सीमा के साथ-साथ गंगा का मैदान का निचला भाग
  • पूर्वी सीमा = पूर्वांचल की पहाड़ियां
  • अधिस्तरण मैदान जो की ब्रह्मपुत्र और इसकी सहायक नदियों के निक्षेपण द्वारा बना है |

The Bhangar-

  • Largest part of the Northern Plain
  • The terraces are often impregnated with calcareous concretions known as ‘KANKAR’
  • High lands created by the pebbles, stones and sand are called Bhur.
  • Bhurs are found in Ganga- Yamuna doab in the form of sedimentary depositions.

The Khadar-

  • It is composed of newer alluvium and forms the flood plains along the river banks.
  • A new layer of alluvium is deposited by river flood almost every year.
  • This makes them the most fertile soils of Ganges.

Importance of Northern Plain-

  • One fourth of the land of the country hosts half of the Indian population.
  • Fertile alluvial soils, flat continuous surface and favorable climate facilitate intense agricultural activity.
  • Plain areas like Punjab, Haryana and western part of Uttar Pradesh the granary of India (Prairies are called the granaries of the world).
  • Has a close network of roads and railways which has led to large scale industrialization and urbanization.

बांगर-

  • उत्तरी मैदान का सबसे बड़ा हिस्सा |
  • इस क्षेत्र की मिट्टी में चूनेदार निक्षेप पाये जाते हैं जिसे  ‘कंकर’ कहा जाता है |
  • कंकड़, पत्थरों और रेत द्वारा बनाई गई उच्च भूमि भूर कहलाती है
  • भूर गंगा-यमुना दोआब में तलछटी में निक्षेपण के रूप में पाई जाती  हैं।

खादर-

  • यह नवीन जलोढ़ों से बना है जो नदी के किनारों पर बाढ़ के मैदान बनाता है |
  • लगभग हर साल नदी की बाढ़ से जलोढ़ की एक नई परत का निक्षेपण होता है |
  • यह उन्हें गंगा की सबसे उपजाऊ मिट्टी के रूप में पहचान दिलवाता है |

उत्तरी मैदान का महत्व-

  • देश की एक चौथाई भूमि भारत की आधी आबादी की ही मेजबानी करता है |
  • उपजाऊ जलोढ़ मिट्टी, सपाट निरंतर सतह और अनुकूल जलवायु तीव्र कृषि गतिविधि की सुविधा प्रदान करते है |
  • पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के पश्चिमी भाग को देश अन्नागार कहा जाता है |((प्रैरीज़ को दुनिया का अन्नागार कहा जाता है)
  • सड़कों और रेलवे का एक सघन नेटवर्क है जिससे  बड़े पैमाने पर औद्योगिकीकरण और शहरीकरण को बल मिला है |

 

Join Frontier IAS Online Coaching Center to prepare for UPSC/HCS/RAS Civil Service comfortably at your home at your own pace/time.

HCS(Prelims+Mains+Interview)   HCS Prelims(Paper 1+Paper 2)

IAS+HCS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    

  RAS+IAS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    RAS(Prelims+Mains+Interview)     RAS Prelims     UPSC IAS Prelims      UPSC  IAS (Prelims+Mains+Interview)

Click Here to subscribe Our YouTube Channel

No Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!