Revolution of 1857 || Haryana GK Study Notes- History Discussion

Revolution of 1857 || Haryana GK Study Notes- History Discussion

Revolution of 1857 || Haryana GK Study Notes- History Discussion

Revolution of 1857 || Haryana GK Study Notes- History Discussion

Revolution of 1857 || Haryana GK Study Notes- History Discussion

Revolution of 1857

  • East India Company had two main functions in India- To expand the empire and economic exploitation.
  • With the accumulated influence of this entire policy, it had adverse impacts on all the sections, kings of Princely states, soldiers, landlords, peasants,  and maulwis except the western educated section living in cities who were dependent on the company for their livelihood.

1857 की क्रांति

  • ईस्ट इंडिया कंपनी के भारत में दो प्रमुख कार्य थे साम्राज्य बढ़ाना और आर्थिक शोषण। अंग्रेजो  की धन लोलुपता की कोई सीमा नहीं थी।
  • इस समस्त शोषण नीति से संचित प्रभाव से भारत में सभी वर्गों, रियासतों के राजाओं, सैनिको, जमींदारों, कृषकों, मौलवियों, केवल नगरों में पाश्चात्य शिक्षा प्राप्त वर्ग जो अपनी जीविका के लिए कंपनी पर निर्भर थे, उनको छोड़कर शेष सभी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा।

Revolution in the Gurugram District

  • 300 soldiers of Delhi went to attack Gurugram on May 13. William Ford, the Collector Magistrate, tried to stop the rebels  at Bijwasan, 12 kilometers away from Gurugram, but he failed to do so.
  • On the second day, the rebels attacked on Gurugram. Ford ran away from Gurugram. In this mission, the rebels got Rs. 7,84,000 from the treasury of Gurugram. As soon as this news came to light, the people of Gurugram also revolted.

जिले  गुरुग्राम में क्रांति

  • दिल्ली के 300 सैनिक 13 मई को गुरुग्राम पर आक्रमण करने के लिए गए। विलियम फोर्ड कलेक्टर मजिस्ट्रेट ने विद्रोहियों को गुरुग्राम से 12 किलोमीटर दूर दिल्ली की तरफ बिजवासन के स्थान पर रोकना चाहा परंतु वह असफल रहा।
  • दूसरे दिन सुबह गुरुग्राम पर विद्रोहियों ने आक्रमण कर दिया। फोर्ड गुरुग्राम छोड़कर भाग गया। विद्रोहियों को इस अभियान में 7,84,000 रुपये गुरुग्राम के खज़ाने से हाथ लगे। इन बातों की खबर मिलते ही गुरुग्राम की जनता भी भड़क उठी।

Revolution in Hisar district

  • In the third week of May, Revolution in Hisar was started by the army squads of Haryana Light Infantry situated in Hisar, Hansi, and Sirsa.
  • The public here also followed the troops from their  heart and soon the revolution in the entire district got erupted. The revolutionaries in the Hisar district were led by the  assistant patrolling officer of Bhatt, Shahjada Muhammad Azim.

हिसार जिले में क्रांति

  • हिसार जिले में क्रांति का श्री गणेश मई के तीसरे सप्ताह में हिसार हाँसी और सिरसा में स्थित हरियाणा लाइट इफेंटरी के सैनिक दस्तों ने किया।
  • यहां की जनता ने भी हृदय से सैनिको का अनुकरण किया और शीघ्र ही सारे जिले में क्रांति भड़क उठी। हिसार जिले में क्रांतिकारियों का नेतृत्व भट्ट के सहायक पेट्रोल अधिकारी शहजादा मुहमद आजिम ने किया।

For More Articles You Can Visit On Below Links :

Join Frontier IAS Online Coaching Center to prepare for UPSC/HCS/RAS Civil Service comfortably at your home at your own pace/time.

HCS(Prelims+Mains+Interview)   HCS Prelims(Paper 1+Paper 2)

IAS+HCS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    

  RAS+IAS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    RAS(Prelims+Mains+Interview)     RAS Prelims     UPSC IAS Prelims      UPSC  IAS (Prelims+Mains+Interview)

Click Here to subscribe Our YouTube Channel

No Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!