IAS UPSC Online Exam Preparation Material | (Prelims+Mains)- 2018

IAS UPSC Online Exam Preparation Material | (Prelims+Mains)- 2018

IAS UPSC Online Exam Preparation Material | (Prelims+Mains)- 2018

IAS UPSC Online Exam Preparation Material | (Prelims+Mains)- 2018

IAS UPSC Online Exam Preparation Material | (Prelims+Mains)- 2018

Drainage System of India-

Classification of Drainage system

Classification of drainage system can be done on various basis:

  • On the basis of orientation towards   the sea
  • On the basis of size of watershed
  • On the basis of mode of origin nature and characteristics

On the basis of orientation towards  the sea

The Bay of Bengal drainage:

  • Rivers that drain into Bay of Bengal
  • East flowing rivers.
  • 77 per cent of the drainage area of the country consisting The Ganga, the Brahmaputra, the Mahanadi, the Godavari, the Krishna, etc.is oriented towards the Bay of Bengal

Arabian sea drainage:

  • Rivers that drain into Arabian sea
  • West flowing rivers
  • 23 per cent of the drainage area of the country consisting The Indus, the Narmada, the Tapi, etc is oriented towards the Arabian sea.

On the basis of size of watershed

1.Major river basins

  • with > 20000 sq km. of catchment area.
  • Includes 14 drainage basins such as Ganga, Brahmaputra, Krishna, Tapi Narmada etc

2. Medium river basins  

  • with catchment area between 2000 to 20000 sq km.
  • Incorporating 44 river basins such as Kalindi,Periyar,Meghna etc

3. Minor river basins

  • with catchment area <2000 sq km
  • Include fairly good number of rivers flowing in the area of low rainfall.

अपवाह तंत्र का वर्गीकरण

अपवाह तंत्र का वर्गीकरण विभिन्न आधार पर किया जा सकता है:

  • समुद्र की ओर उन्मुखीकरण के आधार पर
  • जल-विभाजक के आकार के आधार पर
  • उद्भव एवं विशेषताओं के आधार पर

समुद्र की ओर उन्मुखीकरण के आधार पर

बंगाल की खाड़ी का अपवाह तंत्र

  • वे नदियां जो बंगाल की खाड़ी में गिरती है |
  • पूर्व में बहने वाली नदियां
  • भारत के 77 प्रतिशत अपवाह क्षेत्र में भागीदार गंगा  ब्रह्मपुत्र, महानदी, गोदावरी, कृष्णा आदि बंगाल की खाड़ी में गिरती है |

अरब सागर का अपवाह तंत्र

  • अरब सागर में गिरने वाली नदियाँ
  • पश्चिम की और बहने वाली नदियां
  • भारत के 23 प्रतिशत अपवाह क्षेत्र में भागीदार सिंधु, नर्मदा, तापी, आदि अरब सागर में गिरती है |

जल-विभाजक के आकार के आधार पर

1. प्रमुख नदी द्रोणियां  

  • जिसका जलग्रहण क्षेत्र 20000 वर्ग किमी से  अधिक हो |
  • इसमें गंगा, ब्रह्मपुत्र, कृष्णा, तापी नर्मदा आदि जैसे 14 जल द्रोणियां  शामिल हैं |

2. मध्यम नदी द्रोणियां

  • इनका जलग्रहण क्षेत्र 2000 से 20000 वर्ग किमी के बीच में  होता है |
  • इसमें कालिंदी, पेरियार, मेघना आदि जैसी  44 नदी द्रोणियां है |

3. लघु नदी द्रोणियां

  • इनका जलग्रहण क्षेत्र 2000 वर्ग किमी से काम होता है |
  • इसमें उन नदियों की संख्या ज्यादा है जो निम्न वर्षा वाले क्षेत्रों में बहती है |

IAS UPSC Online Exam PreparationHimalayan Drainage

  • It has evolved through a long geological history.
  • Fed both by melting of a snow and precipitation of perennial rivers
  • Basins of Himalayan rivers are very large
  • It mainly has the perennial rivers,young rivers with erosional activities.
  • They have cut through the mountains making Gorges (A Gorge is a narrow valley between hills or mountains, typically with steep rocky walls and a stream running through it)

Himalayan Rivers

  • Have long courses from their source to the sea
  • They perform intensive erosional activity in their upper courses and carry huge loads of silt and sand in the middle and the lower courses.
  • These rivers form meanders, oxbow lakes and many other depositional features in their floodplains.
  • They also have well developed deltas. Sunderban Delta is the largest delta in the world
  • It mainly includes the Indus, the Ganga and the Brahmaputra river basins.

Indus river system

  • One of the largest river basins of the  world.
  • Also known as the Sindhu
  • Westernmost of the Himalayan rivers in India.
  • Covers an area of 11,65,000 sq km and total length- 2880 km/In India, area-321,289 sq km, length-1114 km.
  • Indus rises from a glacier near Bokhar Chu in the Tibetan region in the Kailash mountain range
  • It is known as Singri Khamban or Lion’s Mouth in Tibet

The Ganga river system

  • Rises in Gangotri Glacier near Gomukh in Uttarkashi district of Uttarakhand, where it is known as Bhagirathi
  • Total length- 2525 km
  • Ganga basin covers 8.6 lakh sq km in India alone
  • Largest river system in India.
  • Shared by Uttarakhand (110 km), UP (1450 km), Bihar (445 km)and West Bengal (520 km)
  • Ganga is combined stream of Bhagirathi and Alaknanda, which meet near Devprayag.
  • After meeting at Devprayag,  it is known as the Ganga.
  • The Alaknanda consists of the Dhauli and the Vishnu Ganga which meet at Vishnuprayag.
  • Tributaries from the mainland are  the Son, and the Damodar.
  • Tributaries from Himalayas are the Yamuna, the Ramganga, the Gandak, the Ghaggar, the Gomti etc.
  • Ganga enters Bangladesh after flowing southeastward after Farakka and it is called Padma here.
  • Brahmaputra and padma collectively known as Meghna.

Tributaries of the Ganga

The Yamuna

  • Originates from Yamunotri glacier
  • Longest and westernmost tributary of Ganga
  • It flows parallel to Ganga and meets the Ganga in Allahabad at Sangam.
  • Right bank tributaries The Chambal, the Sind, the Betwa, the Ken.
  • Left bank tributaries The Hindan, the Sengar, and the Varuna.

हिमालयी अपवाह

  • इसका भूवैज्ञानिक इतिहास बहुत प्राचीन है|
  • यह बर्फ की पिघलने और बारहमासी नदियों के वर्षा जल दोनों प्रकार से फ़लीभूत होती है |
  • हिमालयी नदियों की द्रोणियां बहुत बड़ी हैं |
  • इसमें मुख्य रूप से बारहमासी एवं खारे पानी वाली नवीन नदियाँ है |
  • उन्होंने पहाड़ियों के बीच में तंग घाटी का निर्माण किया है  
  • तंग घाटी पहाड़ों या चट्टानों के बीच में स्थित ऐसी घाटी होती है जिसकी चौड़ाई आम घाटी की तुलना में कम हो और जिसकी दीवारों की ढलान भी साधारण घाटियों के मुक़ाबले में अधिक सीधी लगे । तंग घाटियाँ (महाखड्डों )अक्सर तब बन जाती हैं जब कोई नदी सदियों तक चलती हुई किसी जगह पर धरती में एक घाटी काट दे

हिमालयी नदीयां

  • अपने स्रोत से लेकर समुद्र तक वो एक लम्बी दूरी तय करती हैं
  • यह नदी पर्वतों के ऊपरी क्षेत्रों में भारी मात्रा में अवसाद लाकर मैदानी भाग में जमा करती हैं
  • जब यह मैदान में प्रवेश करती हैं तो निक्षेपण आत्मक स्थलाकृतियां समतल भाटिया गोखुर जिले बाढ़ के मैदान गुंफित वाहिकाएं और नदी के मुहाने पर डेल्टा का निर्माण करती हैं
  • सुंदरबन डेल्टा दुनिया का सबसे बड़ा डेल्टा है
  • इसमें मुख्य रूप से सिंधु, गंगा और ब्रह्मपुत्र नदी घाटी शामिल हैं।

सिंधु नदी तंत्र

  • यह  संसार की सबसे बड़ी नदी द्रोणी है
  • इसे सिंधु भी कहा जाता है |
  • यह हिमालयी नदियों की पश्चिमतम  नदी है
  • इसका क्षेत्रफल 1150000 वर्ग किलोमीटर है ,भारत में इसका क्षेत्रफल 321, 289 वर्ग किलोमीटर है इसकी कुल लंबाई 2880 किलोमीटर है और भारत में इसकी लंबाई 1114 किलोमीटर है |
  • इसका उद्गम स्थल तिब्बत क्षेत्र की कैलास श्रृंखला के बोखार चु नामक हिमनद  है |
  • इसे सिंगरी खंबन अथवा सिंह मुख भी कहा जाता है |इसे सिंगरी खंबन अथवा सिंह मुख भी कहा जाता है |

गंगा नदी तंत्र

  • उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में गोमुख के पास गंगोत्री ग्लेशियर से निकलती है , जहां इसे भागीरथी के नाम से जाना जाता है।
  • कुल लंबाई- 2525 किमी
  • गंगा बेसिन अकेले भारत में 8.6 लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्र तक फैली  है
  • भारत में सबसे बड़ी नदी प्रणाली है
  • उत्तराखंड (110 किमी), उत्तर प्रदेश (1450 किमी), बिहार (445 किलोमीटर) और पश्चिम बंगाल (520 किमी)  की दुरी तक फैली है |
  • गंगा  भागीरथी और अलकनंदा की संयुक्त धारा है, जो देवप्रयाग के पास मिलती है।
  • देवप्रयाग में मिलने के  बाद, इसे गंगा के रूप में जाना जाता ह
  • अलकनंदा में धौली और विष्णु गंगा शामिल हैं जो विष्णुप्रयाग में मिलती  हैं।
  • महाद्वीप से  उपनदियां सोन और दामोदर है |
  • महाद्वीप से  उपनदियां सोन और दामोदर है |
  • गंगा फ़ारक्का के बाद दक्षिण पूर्व में बहने के बाद बांग्लादेश में प्रवेश करती है और इसे यहां  पद्मा कहते हैं।
  • ब्रह्मपुत्र और पद्मा सामूहिक रूप मेघाना के रूप में जाना जाता है

गंगा की  सहायक नदियाँ गंगा की  सहायक

यमुना

  • यह यमुनोत्री हिमनद से निकलती है।
  • यह गंगा की सबसे बड़ी और दक्षिणतम सहायक नदी है।
  • यह गंगा के समांतर बहती है,और यह गंगा को इलाहाबाद के संगम में जाकर मिलती हैं
  • दाहिने छोर की सहायक नदियां चम्बल,सिंध,बेतवा और केन
  • बाएं छोर की सहायक नदियां :हिण्डन, सेगार एवम वरुण नदी

The Brahmaputra river system

  • The Brahmaputra rises from Chemayungdung glacier of Kailash range near the Mansarovar lake
  • Travels 1200 km eastward in dry and flat region of southern Tibet, known as Tsangpo (the purifier) in Tibet.
  • Slightly longer than the Indus, and most of its course lies outside India
  • It flows eastwards parallel to Himalayas
  • On reaching Namcha Barwa (7757m), it takes a ‘U’ turn and enters India in west of Sadiya town in Arunachal Pradesh
  • Emerges as a turbulent and dynamic river after coming out of deep gorge near Namcha Barwa,
  • The river emerges from the foothills under the name of Siang or Dihang.
  • It is joined by the Dibang, the Lohit and many other tributaries to form the Brahmaputra in Assam.

  • The Brahmaputra has a braided channel in its entire length in Assam and forms many riverine islands. Majuli is one of the riverine islands
  • Every year during rainy season, the river overflows its banks, causing widespread devastation due to floods in Assam and Bangladesh.
  • Major left bank tributaries:

Burhi Dihang,Dhansari.

  • Major Right bank tributaries:

Subansiri, Kameng, Manas and Sankosh.

  • Unlike other North Indian rivers the Brahmaputra is marked by huge deposits of silt on its bed causing the river bed to rise.
  • The river also shifts its channel frequently.

ब्रह्पुत्र नदी तंत्र

  • ब्रह्मपुत्र कैलाश श्रृंखला के चमयूंगडुंग हिमनद ,मानसरोवर झील के निकट से निकलती है।
  • यह दक्षिणी तिब्बत के शुष्क एवम समतल क्षेत्र में 1200 किलोमीटर तक का मार्ग तय करती है। तिब्बत में इसे त्संगपो नदी के नाम से जाना जाता है।
  • यह सिंधु नदी से अपेक्षाकृत बड़ी है एवं इसका तट भारत से बाहर है।
  • यह पूर्व में हिमालय के समांतर बहती है।
  • नमचा बारवा(7757 m ) में पहुंचने पर यह U के रूप में मुड जाती है,और भारत के पश्चिम में सदिया(अरुणाचल प्रदेश) में प्रवेश करती है।
  • नमचा बारवा के निकट के गार्ज़ से निकलकर यह एक उग्र एवम ऊर्जावान नदी के रूप में उभरती है।
  • इसकी तलहटी से निकलने वाली नदी को सियांग अथवा दिहंग नदी के नाम से जाना जाता है।
  • दिहंग,लोहित एवम अन्य सहायक नदियों से मिलकर यह असम में ब्रह्मपुत्र के नाम से प्रकट होती है।

  • असम में ब्रह्मपुत्र का सम्पूर्ण जलमार्ग गुफिन्त जलमार्ग है,और कई प्रकार के जलीय द्वीप का निर्माण करता है।माजुली इन जलीय द्वीपों में से एक है।
  • प्रत्येक वर्ष मानसून के दौरान इस नदी में बाढ़ आ जाती है और यह असम तथा बांग्लादेश में भीषण तबाही मचाती है।
  • बायीं ओर की प्रमुख सहायक नदियां :बरही दिहंग और धनसिरी नदी ।
  • दायीं ओर की प्रमुख सहायक नदियां : सुबनसिरी ,कामेग,मानस,संकोश ।

 

  • अन्य उतर भारतीय नदियों की तुलना में ब्रह्मपुत्र की पहचान भूमितल पर रेत एकत्रित करने वाली नदियों के रूप में जिसके कारण इसका तल ऊपर की ओर होता है।
  • यह नदी अपना मार्ग बदलती रहती है।

 

Join Frontier IAS Online Coaching Center to prepare for UPSC/HCS/RAS Civil Service comfortably at your home at your own pace/time.

HCS(Prelims+Mains+Interview)   HCS Prelims(Paper 1+Paper 2)

IAS+HCS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    

  RAS+IAS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    RAS(Prelims+Mains+Interview)     RAS Prelims     UPSC IAS Prelims      UPSC  IAS (Prelims+Mains+Interview)

Click Here to subscribe Our YouTube Channel

No Comments

Leave a Reply