HCS RAS Geography Exam 2018 – Study Material | IAS Online Preparation

HCS RAS Geography Exam 2018 – Study Material | IAS Online Preparation

HCS RAS Geography Exam 2018 – Study Material | IAS Online Preparation

HCS RAS Geography Exam 2018 – Study Material | IAS Online Preparation

HCS RAS Geography Exam 2018 – Study Material | IAS Online Preparation

Physiography of India-

  • India, being a vast country, lies in Northern and Eastern hemisphere.
  • One important latitude passes through it i.e. Tropic of Cancer (23°30’N) and it bifurcates India into two halves.
  • Tropic of cancer passes through the following states- Gujarat, Rajasthan, Madhya Pradesh, Chhattisgarh, Jharkhand, West Bengal, Tripura, Mizoram.

  • Mainland extends between 8°4’N and 37°6’N latitude and 68°7’E and 97°25’E longitude.
  • North-south extent- 3214 km
  • West-East extent- 2944 km
  • Standard meridian of India passes through (82°30’E) which is situated in Naini, Allahabad (U.P.).It also passes through M.P, Chhatisgarh, Odisha and Andhra Pradesh.
  • Time of India is ahead of Greenwich Mean Time by 5 hours and 30 minutes because IST is based on 82°30’E longitude

Neighbour countries of India-

  • Afghanistan– India shares smallest boundary with Afghanistan
  • Pakistan
  • China
  • Nepal
  • Bhutan
  • Bangladesh– India shares longest boundary with Bangladesh
  • Indian Subcontinent-India, Nepal, Bhutan, Bangladesh, Pakistan, Sri Lanka, Maldives

भारत का प्राकृतिक भूगोल-

  • भारत, एक विशाल देश है, यह उत्तरी और पूर्वी गोलार्ध में स्थित है।
  • एक महत्वपूर्ण अक्षांश कर्क रेखा इसके मध्य से गुजरती है  (23°30’ उत्तर) देश को लगभग दो बराबर भागों में विभाजित करता है।
  • कर्क रेखा  गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा, मिजोरम जैसे राज्यों से गुजरती है |

  • भारतीय महाद्वीप 8° 4′ और 37° 6‘ उत्तरी अक्षांशों तथा 68°7′ और 97°25′ पूर्वी देशान्तरों के बीच अवस्थित है।
  • भारत की उत्तर-दक्षिण सीमा- 3214 कि.मी.
  • पश्चिम-पूर्व सीमा- 2 9 44 कि.मी.
  • भारत का मानक देशान्तर रेखा (82 ° 30′ पूर्व ) से गुजरती है जो की नैनी, इलाहाबाद (यूपी) में स्थित है | इसके अतिरिक्त  यह मध्य प्रदेश , छत्तीसगढ़, ओडिशा और आंध्र प्रदेश से भी गुजरती है।
  • भारत का समय ग्रीनविच के औसत समय  से 5 घंटे और 30 मिनट से आगे है क्योंकि अंतरराष्ट्रीय समय मानक  82 डिग्री 30’पूर्व देशांतर पर है |

भारत के पडोसी देश-

  • अफग़ानिस्तान : भारत की अफग़ानिस्तान के साथ सबसे कम सीमा लगती है |
  • पाकिस्तान
  • चीन
  • नेपाल
  • भूटान
  • बांग्लादेश – भारत बांग्लादेश के साथ सबसे लंबी सीमा को सांझा करता है |
  • भारतीय उपमहाद्वीप-भारत, नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, पाकिस्तान, श्रीलंका, मालदीव

Trans Himalayas-

  • Average width= 40 km at the extremities and about 225 km in the central part.
  • Northern most range is Great Karakoram Range also known as the Krishnagiri range.

  

The Himalayas-

  • Himalayas are formed due to C-C collision between Indian plate and Eurasian plate which began 50 million years ago and continues even today.
  • Himalayas are developed in 3 phases-
  1. Great Himalayas (Oligo-Eocene period)
  2. Middle Himalayas (Miocene period)
  3. Outer Himalayas (Pleistocene period)

Properties of Himalayas-

  • Himalayas are fold mountain which are formed mainly of sedimentary rocks of marine origin. (Tethys Sea)
  • Himalayas are not single mountain but a series of ranges which is bordered on North-West by the Karakoram and Hindu-Kush ranges, on North by Tibetan Plateau and in South by Indo Gangetic plains.
  • Himalayas can be divided North-South as well as West to East.

Important peaks of Greater Himalaya-

  1. Mount Everest
  2. Kanchenjunga
  3. Nanga Parbat
  4. Nanda Devi
  5. Kamet
  6. Namcha Barwa

Important Passes of Greater Himalaya-

  • Karakoram– it is situated in Ladakh region of J & K, highest pass of the India
  • Burzil– situated in Greater Himalayas of J and K. It connects Srinagar and Gilgit.
  • Zoji la- situated in Zaskar range in J and K. Srinagar-Leh highway passes through it
  • Pir Panjal– situated in Pir panjal range
  • Banihal-Situated in Ladakh region. Jawahar tunnel is here.
  • Shipki la– in Zaskar range, Himachal Pradesh
  • Bara Lacha la– in Zaskar, Himachal Pradesh
  • Mana la– in Kumaon range, Uttarakhand.
  • Niti La, Thaga la and Lipu lekh– in Kumaon range, UK
  • Nathu la and Jelep la-Sikkim

पारहिमालय-

  • इसका निर्माण यूरेशियन प्लेट के टकराने से हुआ
  • इसमें भारत का उत्तरी हिस्सा जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश सम्मिलित है |
  • हिमालय के चारो ओर तिब्बती पठार का विस्तार
  • जास्कर, लद्दाख, कैलाश और काराकोरम मुख्य श्रृंखलाएं हैं।
  • औसत ऊंचाई = 3000 मीटर औसत समुद्र तल से ऊपर
  • औसत चौड़ाई = 40 किमी के अंतराल पर और मध्य भाग में लगभग 225 किमी।
  • उत्तर की सबसे बड़ी श्रेणी महान काराकोरम रेंज को भी कृष्णगिरी श्रेणी के रूप में जाना जाता है।

हिमालय-

  • भारतीय प्लेट और यूरेशियन प्लेट के बीच C-C टकराव की वजह से हिमालय का निर्माण हुआ है  जो 50 मिलियन वर्ष पहले शुरू हुआ था और आज भी जारी है।
  • हिमालय 3 चरणों में विकसित हुआ है –
  1. महान  हिमालय (ऑलिगो-इओसीन काल )
  2. मध्य हिमालय (एमओसिन काल )
  3. बाहरी हिमालय (प्लीस्टोसिन काल )

हिमालय के गुणधर्म-

  • हिमालय वलन(परत वाला) पहाड़ हैं जो मुख्य रूप से समुद्री मूल के तलछटी चट्टानों का बना हैं। (टेथिस सागर)
  • हिमालय एकल पहाड़ी नहीं हैं, बल्कि यह पर्वत श्रृंखला है जो काराकोरम और हिंदू-कुश पर्वतमालाओं द्वारा उत्तर-पश्चिम की सीमा पर है, उत्तर में तिब्बती पठार और दक्षिण में इंडो गंगा के मैदानी इलाकों स्थित है |
  • हिमालय को उत्तर-दक्षिण और पश्चिम से पूर्व में विभाजित किया जा सकता है।

महान  हिमालय की महत्वपूर्ण-

  1. एवेरेस्ट पर्वत
  2. कंचनजंगा
  3. नंगा पर्वत
  4. नंदा देवी
  5. कामेट पर्वत
  6. नमचा बरवा

महान हिमालय के महत्वपूर्ण मार्ग (दर्रे )-

  • काराकोरम– यह जम्मू-कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में स्थित है, भारत सबसे ऊँचा दर्रा है |
  • बुरज़िल दर्रा-यह जम्मू-कश्मीर के महान हिमालय में है जो श्रीनगर और गिलगित को जोड़ता है।
  • ज़ोजिला दर्रा– जम्मू और कश्मीर में जास्कर श्रृंखला में स्थित है ,श्रीनगर-लेह राजमार्ग इसके मध्य से गुजरता है |
  • पीर पंजाल– पीर पंजाल श्रृंखला में स्थित है |
  • बनिहाल-यह लद्दाख क्षेत्र में स्थित है ,जवाहर सुरंग भी यहीं पर स्थित है
  • शिपकी ला– यह जास्कर श्रृंखला में स्थित है ( हिमाचल प्रदेश )
  • बड़ालाचा दर्रा – यह जास्कर हिमाचल प्रदेश में है |
  • माना दर्रा -कुमाऊं पर्वत श्रृंखला (उत्तराखंड) में स्थित है |
  • नीति दर्रा,थगा दर्रा, लिपुलेख दर्रा कुमाऊं श्रृंखला (उत्तराखंड) में है |
  • नाथुला  दर्रा और जेलेप दर्रा -सिक्किम |

Shiwalik or Outer Himalayas-

  • Southernmost Himalayas
  • Width– 10 to 50 km
  • Height– 900 to 1200 m
  • This is not a continuous range
  • Most recent part of the himalayas
  • Between Shiwalik and Himachal there are number of valleys like Kathmandu valley
  • Western side- Duns or Duar like Dehradun, Kotli dun and Patli dun and Haridwar (Dehradun largest of them)
  • Lowermost part is called Terai region which is marshy area with dense forests

Division on the basis of Rivers-

  • Besides the longitudinal divisions, the Himalayas have also been divided on the basis of regions from west to east. These divisions have been demarcated by river valleys
  • West-East
  1. Indus-Satluj- Kashmir/Punjab Himalayas
  2. Satluj-Kali– Kumaon Himalayas
  3. Kali-Kosi-Nepal Himalayas
  4. Kosi-Teesta– Sikkim Himalaya
  5. Teesta-Dihang-Assam Himalayas

Purvanchal hills-

  • Southward extension of Himalayas running along the north-eastern edge of India.
  • At the Dihang gorge, the Himalayas take a sudden southward bend and form a series of comparatively low hills which are collectively called as the Purvanchal.
  • Purvanchal hills are convex to the west.

Run along the India-Myanmar Border extending from Arunachal Pradesh in the north to Mizoram in the south.

Main hills are:

  • Patkai hills
  • Naga hills
  • Barail range
  • Mizoram hills

शिवालिक अथवा बाह्य हिमालय-

  • दक्षिणी हिमालय
  • चौड़ाई- 10 से 50 किमी
  • ऊंचाई- 900 से 1200 मीटर
  • यह एक निरंतर श्रेणी नहीं है
  • हिमालय का नवीनतम भाग  
  • शिवालिक और हिमाचल के बीच काठमांडू घाटी जैसी अन्य घाटियां हैं
  • पश्चिमी दिशा  – देहरादून, कोटली डुन और पटली डुन और हरिद्वार (देहरादून जैसे सबसे बड़े) जैसे ड्यून या डूअर
  • सबसे कम भाग को तराई क्षेत्र कहा जाता है जो वनीय एवं दलदल वाला क्षेत्र है |

नदियों के आधार पर विभाजन-

  • अनुदैर्ध्य भागों  के अलावा, हिमालय को भी पश्चिम से पूर्वी क्षेत्रों के आधार पर विभाजित किया गया है। इन भागों  को नदी घाटियों द्वारा सीमांकन किया गया है|
  • पश्चिम-पूर्व
  1. इंडस-सतलुज-कश्मीर / पंजाब हिमालय
  2. सतलुज-काली-कुमाम हिमालय
  3. काली-कोसी-नेपाल हिमालय
  4. कोसी-तीस्ता-सिक्किम हिमालय
  5. तीस्ता-दीहंग-असम हिमालय

पूर्वांचल पहाड़िया-

  • हिमालय का दक्षिणी हिस्सा भारत के उत्तर-पूर्वी किनारे के साथ ही विस्तारित है |
  • दिहांग महाखड्ड के बाद, हिमालय दक्षिण की ओर तीखा मोड़ बनाते हुए भारत की पूर्वी सीमा के साथ फैल जाता है |इन्हे पूर्वांचल या पूर्वी पहाड़ियों और पर्वत श्रृँखलाओं के रूप में जाना जाता है
  • पूर्वांचल पहाड़िया पश्चिम में उत्तलाकर हैं|
  • उत्तर में अरुणाचल प्रदेश से दक्षिण में मिजोरम तक फैले भारत-म्यांमार सीमा के साथ विस्तारित है |

मुख्य पहाड़ीयां  हैं:

  • पटकाई पहाड़ियां  
  • नागा पहाड़ियां
  • बरेल पर्वत श्रृंखला
  • मिजोरम की पहाड़ियां

 

Join Frontier IAS Online Coaching Center to prepare for UPSC/HCS/RAS Civil Service comfortably at your home at your own pace/time.

HCS(Prelims+Mains+Interview)   HCS Prelims(Paper 1+Paper 2)

IAS+HCS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    

  RAS+IAS Integrated(Prelims+Mains+Interview)    RAS(Prelims+Mains+Interview)     RAS Prelims     UPSC IAS Prelims      UPSC  IAS (Prelims+Mains+Interview)

Click Here to subscribe Our YouTube Channel

No Comments

Leave a Reply